Ken Betwa Link Project (KBLP) | केन-बेतवा नदी लिंकिंग परियोजना।

Ken Betwa Link Project (KBLP):- आप सभी यह बखूबी जानते है की जीने के लिए भोजन और पानी कितना आवश्यक है। और भोजन के लिए खेती जरुरी है और खेती की सिंचाई के लिए पानी जरुरी है।

भारत के अधिकांश ऐसे हिस्से है जहा पिने और सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध नहीं है। उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश के कुछ ऐसे हिस्से है जहा पानी नहीं की कमी है।

अभी हालही में भारत सरकार ने एक बिल पास किया है जिसके तहत ken-Betwa Link Project (KBLP) के लिए 44605 करोड़ रूपये दो राज्य सरकारों के लिए पास किये गए हैं।

Ken Betwa Link Project (KBLP) को पूर्ण करने के लिए केंद्र सरकार ने अपने आदेश दे दिए है।

अब इस परियोजन के लिए काम शुरू हो जायेगा। केन बेतवा नदी जुड़ाव परियोजना के लिए एक संस्था का गठन किया जायेगा। इसके तहत इस परियोजना को पूर्ण रूप दिया जायेगा।

क्या है? Ken Betwa Link Project

दरअसल मध्य प्रदेश के तीन जिले (छतरपुर, पन्ना, टीकमगढ़) तथा उत्तर प्रदेश के तीन जिले (बाँदा, मोहबा और झाँसी) यह छः ऐसे जिले है जहा सिंचाई और पिने के लिए पानी की कमी है।

इसलिए केंद्र सरकार ने इन दोनों राज्यों की जल पूर्ति के लिए ken betwa river linking project शुरू की है जिसके तहत यमुना की सहायक नदिया केन और बेतवा को आपस में जोड़ा जायेगा।

Ken Betwa Link Project

इसके तहत केन नदी का पानी बेतवा नदी में भरा जायेगा।

यमुना की इन दोनों सहायक नदियों को नहर के द्वारा एक दूसरे से जोड़ा जायेगा।

जिसमे नहर की कुल लम्बाई 221 किलोमीटर है। इस नहर में 2 किलोमीटर की टर्नल का निर्माण होगा।

जिसमें 2 किलोमीटर टर्नल के अंदर से पानी बहेगा। जो दिखाई नहीं देगा।

क्योंकि बेतवा नदी में पानी कुछ खास नहीं है। यही है Ken Betwa Link Project.

Ken-Betwa Link Project से क्या लाभ है?

अगर हम केन बेतवा जुड़ाव परियोजना की बात करें तो इससे बहुत ज्यादा लाभ मिलने वाला है।

  • Ken Betwa river linking project के तहत उन इलाको तक पानी पहुंच पायेगा जहा पानी की किल्लत है।
  • इस परियोजना के तहत 1.26 लाख हेक्टेयर भूमि की सिंचाई हो सकेगी।
  • अनाज की पैदावार से आर्थिक स्थति मजबूत होगी।
  • इस केन-बेतवा परियोजना से 103 मेगावाट विद्युत और 27 मेगावाट सौर ऊर्जा का उत्पादन किया जायेगा।
  • इसके तहत 62 लाख लोगों का पेयजल की समस्या का निपटारा होगा। पिने के लिए पानी मिलेगा।
  • 70th Miss Universe Harnaaz Kaur Sandhu Biography In Hindi

केन बेतवा परियोजना से क्या हानि है?

केन बेतवा लिंकिंग परियोजना से मध्य प्रदेश के पन्ना जिला में पन्ना टाइगर अभ्यारण ( Panna Tiger Reserve ) है।

जिसका लगभग 10% भाग पानी में डूब जायेगा जिससे यहाँ के रहने वाले जिव प्रभावित होंगे।

इस पन्ना टाइगर अभ्यारण में इस समय 30 टाइगर, घड़ियाल, तेंदुआ, गिद्ध आदि निवास करते है।

इसके अलावा लगभग 1600-1700 से परिवारों को दूसरी जगह शिफ्ट करना पड़ेगा।

3 thoughts on “Ken Betwa Link Project (KBLP) | केन-बेतवा नदी लिंकिंग परियोजना।”

Comments are closed.